6th to 12th social science class

10th math,12th class english,12th class physics objective,CTET/UPTET,competitive math

Search This Blog

Labels

Monday, 4 March 2019

इतिहास किसे कहते है।इतिहास को आसानी से याद रखने के लिए इतिहास को तीन काल खण्डो मे बाँटा गया है।

* इतिहास किसे कहते है।
अतित से लेकर वर्तमान तक जो भी घटनाएँ हुए है, उसके तिथि क्रमानुसार अध्ययन एवं विश्लेषण को ही इतिहास कहते है।


* इतिहास को आसानी से याद रखने के लिए इतिहास को तीन काल खण्डो मे बाँटा गया है।
(1) प्राचीन काल
(2) मध्य काल
(3) आधुनिक काल

(1) प्राचीन काल → भारत मे मानव जाती के आरंभिक क्रियाकलापों से लेकर आठवीं शताब्दी के पहले (700-750 ई0) तक निर्धारित किया गया है।
                           इस काल की किसी भी घटना का लिखित इतिहास उपलब्ध नही है।
                   इसी काल मे ही मनुष्यों ने खेती एवं पशुपालन सीखा, आग और पहियों का उपयोग सीखा, और इसी काल में ही गाँव एवं शहरो का विकाश हुआ। प्राचीन काल के प्रारंभिक चरण को पूर्व इतिहासिक काल भी कहा जाता है।
भारत मे प्राचीन काल मे  
सिन्धु सभ्यता
    वैदिक सभ्यता
    महाजनपदों का उदय
    जैनधर्म
     बौद्धधर्म
     शैवधर्म
     वैष्णवधर्म
     इस्लाम धर्म
     ईसाई धर्म
    मगध राज्य का उत्कर्ष
    सिकन्दर
    मौर्य-साम्राज्य
    ब्राह्मण-साम्राज्य
    शक
    कुषाण
    गुप्त-साम्राज्य
    पुष्यभूति वंस 
ये सभी और बहुत कुछ हुये है। 


(2) मध्य काल → यह काल आठवीं शताब्दी के मध्य से लेकर आठारवीं शताब्दी के पूर्वाद्ध तक रहा जो राज्य प्राचीन काल में बने थे वह आठवीं शताब्दी के मध्य (750ई०) तक ये राज्य कमजोर पड़ने लगें परन्तु व्यापार एवं नगरों का फिर से विकास हुआ।
                                                   ग्यारहवीं शताब्दी तक नये सैन्य साधन और उन्नत उत्पादन तकनीकी विकसित हुई। इस्लामिक विचार धारा का भारत मे आगमन हुआ और पुनः भारत विशाल साम्राज्य बन गया। सांस्कृतिक समन्वय और सामाजिक सामंजस्य भी स्थापित हुआ। आठारवीं शताब्दी के पूर्वाद्ध तक यह प्रक्रिया पतनशील अवस्था मे आ गया और इस प्रकार मध्य काल का अन्त हुआ।
भारत मे मध्य काल में
भारत पर अरबों का आक्रमण
    महमूद गजनवी
    महमूद गजनवी
    मुहम्मद गोरी
    सल्तनत काल
    विजयनगर-साम्राज्य
    सूफी आन्दोलन
    भक्ति आन्दोलन
    मुगल साम्राज्य
    मराठों का उत्कर्ष
ये सभी और बहुत कुछ 

(3) आधुनिक काल→ आधुनिक काल अठारहवीं शताब्दी के उत्तरार्द्ध मे प्रारंम्भ हुई, जब पश्चिमी देशों के नए विचार और प्रशासनिक व्यवहार भारत मे आयी।
                                                         इससे शिक्षा स्वास्थ, संचार-व्यवस्था एवं आवागमन मे विशेष प्रगति हुई। ये नयी व्यवस्था विदेशियों द्वारा स्थापित की गई। जो हमारे देश के आर्थिक संसाधनों का लाभ प्राप्त करना चाहते थे।
                  भारतीयों मे इसके विरूद्ध एक चेतना जागी। उन्नीसवी शताब्दी के उत्तरार्द्ध से भारत मे इस औपनिवेशिक सत्ता के विरूद्ध राष्ट्रीय आन्दोलन सक्रिय हुआ जो सत्य और अहिंसा के सिद्धांतों से प्रेरित रहा।
         सन् 1947 में भारत को अजादी मिली और एक नया संविधान बना 
                  इस संविधान के द्वारा जनता को अपना प्रतिनिधियों को चुनने का अधिकार मिला 
                                               यहि काल भारत के आधुनिक इतिहास का प्रतिनिधित्व करता है।
भारत मे आधुनिक काल में
भारत में यूरोपीय व्यापारिक कम्पनि का आगमन
    बंगाल पर अंग्रेजों का आधिपत्य
    1857 ईकी महान क्रांति
    भारत का स्वतंत्रता संघर्ष
    काँग्रेस अधिवेशन
  ये सभी और बहुत कुछ 




No comments:

Post a Comment

post se sambandit comment kare